Home अभी अभी IIT BHU: विश्व में अपना लोहा मनवाने जाएगी ‘टीम अवरेरा’
IIT BHU: विश्व में अपना लोहा मनवाने जाएगी ‘टीम अवरेरा’

IIT BHU: विश्व में अपना लोहा मनवाने जाएगी ‘टीम अवरेरा’

25
0
– मलेशिया स्थित कुआलंमपुर के सेपांग इंटरनेशनल सर्किट में 29 अप्रैल से 2 मई तक आयोजित होगी शेल इको-मैराथन, एशिया 2019 प्रतियोगिता
– पिछले वर्ष चेन्नई में आयोजित हुई शेल इको-मैराथन इंडिया-18 में संस्थान के छात्रों की टीम अवरेरा ने जीते थे तीन श्रेणी में प्रथम पुरस्कार
– संस्थान के निदेशक प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने दी शुभकामनाएं
आशुतोष तिवारी
वाराणसी। पिछले वर्ष चेन्नई में आयोजित हुई शेल इको मैराथन (इंडिया)-18 प्रतियोगिता में आईआईटी बीएचयू के सेंटर फाॅर एनर्जी एंड रिसोर्स डेवलपमेंट (सीईआरडी) के अंतर्गत शोध कार्य कर रहे छात्रों की टीम अवेरेरा ने अपना परचम लहराने के बाद आगामी 29 अप्रैल से 2 मई तक मलेशिया स्थित कुआलंमपुर के सेपांग इंटरनेशनल सर्किट में होने वाली शेल इको-मैराथन, एशिया 2019 प्रतियोगिता में हिस्सा लेगी। ’टीम अवरेरा’ द्वारा बनाई गई इलेक्ट्रिक प्रोटोटाइप कार को मलेशिया रवाना कर दिया गया है।
संस्थान की टीम 27 अप्रैल को मलेशिया पहुंचेगी। निदेशक प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने टीम को शुभकामनाएं दी हैं।
सीईआरडी के समन्वयक प्रोफेसर एसएसके सिन्हा ने बताया कि सेंटर फॉर एनर्जी एंड रिसोर्सेज डेवलपमेंट के तहत काम करने वाली आईआईटी(बीएचयू) की एक अंडरग्रेजुएट ऑटोमोबाइल रिसर्च टीम टीम अवरेरा अल्ट्रा-एनर्जी एफिशिएंट इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को डिजाइन और डेवलप करने के लिए इनोवेटिव टेक्नॉलजीज को काम में ले रही है।
टीम में संस्थान के विभिन्न विषयों के 15 सदस्य हैं और अब तक वे अपने वाहन को भारत के सबसे अधिक ऊर्जा कुशल इलेक्ट्रिक वाहन के रूप में बेंचमार्क स्थापित कर चुके हैं। टीम एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता शेल इको-मैराथन, एशिया में भाग लेने जा रही है।
यह एक पैन-कॉन्टिनेंट एनर्जी एफिशिएंसी प्रतियोगिता है, जो कॉलेजों में विद्यार्थियों को एनर्जी एफिशिएंट व्हीकल डेवलप करने के लिए चुनौती देता है। अब तक, टीम ने चार प्रोटोटाइप विकसित किए हैं।
उन्होंने बताया कि टीम अवरेरा की पहली जीत शेल इको-मैराथन एशिया के 2017 संस्करण में रही, जहां टीम ने 131.8 किमी/किलो वाॅट आॅवर की दक्षता दर्ज की, जो एशिया में 11 वें स्थान का दावा करती है।
टीम ने शेल इको-मैराथन एशिया 2018 में शानदार प्रदर्शन जारी रखा, जिसमें 150 प्रतिशत से अधिक सुधार के साथ 349.6 किमी/किलो वाॅट आॅवर की दक्षता हासिल करने के साथ तीसरा स्थान हासिल किया।
दिसंबर 2018 में चेन्नई में आयोजित शेल इको-मैराथन, इंडिया के चुनौतीपूर्ण कार्यक्रम में टीम ने उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए 4 में से 3 पुरस्कार जीते थे। आईआईटी बीएचयू प्रतियोगिता के विभिन्न चरणों को सफलतापूर्वक पूरा करने वाला एकमात्र आईआईटी रहा है।

(25)

Close