Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी डिवीजन वाराणसी हत्या करने से पहले 2 बदमाश पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार,कई हथियार बरामद

हत्या करने से पहले 2 बदमाश पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार,कई हथियार बरामद

16
0

वाराणसी।क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को मुठभेड़ में दो बदमाशों को गिरफ्तार किया गया। उनके पास से कई हथियार बरामद हुए हैं। दोनों को जेल भेज दिया गया गया। दोनों बदमाश एक व्यक्ति की हत्या करने आए थे। वहीं मौके से गिरोह के चार बदमाश भाग निकले।

प्रेसवार्ता में एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह और एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र नाथ प्रसाद ने गिरफ्तारी की जानकारी दी। बताया कि क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह ने सूचना के आधार पर बनियापुर क्षेत्र में रिंग रोड के समीप एसआई राकेश सिंह व अन्य पुलिस कर्मियों के साथ घेराबंदी की।क्राइम ब्रांच को देख बदमाशों ने फायरिंग की लेकिन जवाबी कार्रवाई में कल्लू और बीरू दबोचे गए। वहीं मौके से गिरोह का सरगना पक्की बाजार निवासी सादिक, मकबूल आलम रोड निवासी अभिषेक सिंह उर्फ प्रिंस, छत्तातले का इमरान और नईबस्ती हुकुलगंज निवासी जावेद खान भाग निकले। दोनों बदमाशों के पास से .32 बोर की तीन अवैध पिस्टल, एक रिवाल्वर, तीन तमंचा, आठ कारतूस, तीन मोबाइल, एक बाइक और चार हजार रुपये बरामद हुए। 

दोनों बदमाशों ने पूछताछ में दोनों ने बताया कि मुंगेर से अवैध असलहे बनारस पहुंचाने के साथ ही दोनों भाड़े पर हत्या करते हैं।दोनों ने कहा कि उनकी गैंग के सरगना सादिक और प्रिंस हैं। बनियापुर रजनहिया निवासी बस चालक बिहारी यादव उर्फ भोली से प्रिंस का जमीन संबंधी विवाद है। इसी मामले में वे भोली की हत्या करने आए थे लेकिन उससे पहले पकड़ लिए गए।दोनों ने बताया कि प्रिंस सहित सभी छह लोग 12 मई को भी भोली की हत्या करने को इकट्ठा हुए थे लेकिन वह अपने घर से बाहर ही नहीं निकला था। एसपी सिटी ने बताया कि फरार अन्य चार बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए दो टीम लगाई गई है।

मकबूल आलम रोड निवासी अभिषेक सिंह प्रिंस के घर में नौ अगस्त 2017 को बिहार के भभुआ निवासी मोहम्मद आसिफ अंसारी उर्फ पिंकू को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। कल्लू और बीरू से पूछताछ में पिंकू की हत्या का खुलासा हुआ।बीरू ने बताया कि पिंकू बिहार से असलहे लाकर प्रिंस को बेचने के लिए देता था। असलहों की बिक्री के रुपये के लेनदेन को लेकर पिंकू और प्रिंस के बीच विवाद हो गया था।बीरू ने कहा कि प्रिंस के कहने पर पिंकू को सबक सिखाने के लिए साजिद, अभिषेक, इमरान, जावेद और उसने गोली मार कर हत्या कर दी। बीरू से मिली सूचना की क्राइम ब्रांच तस्दीक कर रही है।

उधर, कल्लू और बीरू ने बताया कि साजिद और प्रिंस के इशारे पर दोनों मुंगेर के चंदन यादव से 13 हजार रुपये में देशी पिस्टल खरीद कर लाते थे और बनारस लाकर 30 हजार में बेचते थे। एक असलहे पर उन्हें आने-जाने और खाने-पीने के खर्च के अलावा एक हजार रुपया मिलता था।कल्लू ने कहा कि वे ट्रेन से आराम से यात्रा करते हुए असलहा खोंस कर लाता था। बताया कि बीते छह महीने में उसने बनारस में .32 बोर की 30 अवैध पिस्टल बेची। पुलिस के अनुसार कल्लू और बीरू के खिलाफ लूट, हत्या, आर्म्स एक्ट सहित अन्य आरोपों में आधा दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

एसपी सिटी ने बताया कि गिरफ्त में आए बदमाश अन्तर्राज्यीय असलहा तस्कर गिरोह के सदस्य हैं। इस गैंग को पंजीकृत कर इससे जुड़े बदमाशों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही गिरोह के सदस्यों की हिस्ट्रीशीट भी खोली जाएगी।

(16)

Close