Home अभी अभी वाराणसी: देश के लिए मैं प्रधानमंत्री हूं, लेकिन आपके लिए मैं सेवक हूं, पढ़ें- पीएम के भाषण की बड़ी बातें
वाराणसी: देश के लिए मैं प्रधानमंत्री हूं, लेकिन आपके लिए मैं सेवक हूं, पढ़ें- पीएम के भाषण की बड़ी बातें

वाराणसी: देश के लिए मैं प्रधानमंत्री हूं, लेकिन आपके लिए मैं सेवक हूं, पढ़ें- पीएम के भाषण की बड़ी बातें

27
0

आशुतोष त्रिपाठी

वाराणसी: लोकसभा चुनाव में बीजेपी और वाराणसी से अपनी प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे हैं। यहां श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में विधिवत दर्शन पूजन करने के पश्चात बड़ा लालपुर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल सभागार में आयोजित अभिनन्दन समारोह में शामिल हुए। जहां लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश के लिए मैं प्रधानमंत्री हूं, लेकिन आपके लिए मैं आपका सांसद और सेवक हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश देश की राजनीति को नई दिशा दे रहा है।

2014 हो, 2017 हो, 2019 हो, ये हैट्रिक छोटी नहीं है। उत्तर प्रदेश के गांव का गरीब व्यक्ति भी देश की सही दिशा के बारे में सोचता भी है और उस दिशा में चलता भी है। उन्होंने कहा कि यहां की बेटियों ने जो स्कूटी यात्रा निकाली उसकी पूरे देश में और सोशल मीडिया में बड़ी चर्चा है, स्कूटी पर बैठकर हमारी बेटियों ने पूरी काशी को अपने सिर पर बैठा लिया था।

इस चुनाव की सभी कसौटियों पर आप डिस्टिंक्शन मार्क्स के साथ पास हुए हैं, इसलिए आप सभी अभिनंदन के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि मैं काशी के संगठन से जुड़े लोगों का, हर कार्यकर्ता का और हर समर्थक का इस बात के लिए आभार करता हूं कि उन्होंने इस चुनाव को जय-पराजय के तराजू से नहीं तोला। उन्होंने चुनाव को लोक संपर्क, लोक संग्रह, लोक समर्पण का पर्व बनाया।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में जब कार्यकर्ताओं के साथ मेरा मिलना हुआ था तो उस दिन मैंने कहा था कि यहां पर शायद नामांकन तो एक नरेन्द्र मोदी का हुआ होगा। लेकिन ये चुनाव हर घर का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा, हर गली का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा। चुनाव में अलग-अलग दलों के साथी और निर्दलीय साथी जो मैदान में थे, उनका भी आभार व्यक्त किया कि पूरी गरिमा के साथ काशी के चुनाव अभियान को लोगों ने आगे बढ़ाया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शायद ही कोई उम्मीदवार चुनाव के समय इतना निश्चिंत होता होगा, जितना मैं था। इस निश्चिंतता का कारण कार्यकर्ताओं का परिश्रम और काशीवासियों का विश्वास था। नतीजे और मतदान दोनों समय मैं निश्चिंत था और बड़े मौज के साथ केदारनाथ में बाबा के चरणों में बैठ गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम दो बातों को लेकर चलने का प्रयास करते हैं।

पहला- भारत की महान विरासत और दूसरा आधुनिक विजन हमें हमारे कल्चर को भी बरकरार रखना है और वर्तमान स्थिति का भी ध्यान रखना है। उन्होंने कहा कि आज देश के राजनीतिक कैनवास पर ईमानदारी से रग-रग में लोकतंत्र को जीने वाला कोई दल है, तो वो भाजपा है। हम शासन में आते है तब भी लोकतंत्र की सबसे ज्यादा परवाह करते हैं। हम लोकत्रंत में विश्वास रखने वाले लोग हैं।

जहां-जहां हमें मौका मिला है, वहां विपक्ष की आवाज को महत्व दिया है, जनता के अविश्वास के कारण उनकी संख्या चाहे कम ही क्यों न हो। कई राज्यों में हमारे सैकड़ों कार्यकर्ताओं की राजनीतिक विचारधारा के कारण हत्याएं हुई है। हमारे देश में राजनीतिक छुआछूत दिनों दिन बढ़ती जा रही है। कई जगह भाजपा का नाम लेते ही अस्पृश्यता का माहौल बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि जैसे दो शक्ति हैं नीति और रीति, जैसे दो शक्ति हैं नीति और रणनीति, जैसे दो शक्ति हैं पारदर्शिता और परिश्रम, जैसे दो शक्ति हैं वर्क एंड वर्कर वैसे ही दो संकट भी हमने झेले हैं और वो दो संकट हैं-राजनीतिक हिंसा और राजनीतिक अस्पृश्यता।

सरकार का काम है कार्य करना और इसलिए एक तरफ सरकार का कार्य हो और उसमें जब कार्यकर्ता जुड़ जाता है तो ‘कार्य+कार्यकर्ता’ वो एक ऐसी ताकत है जो करिश्मा करती है।पारदर्शिता और परिश्रम दो ऐसी चीजें हैं, हर परसेप्शन को परास्त करने का साहस रखते हैं। आज हिंदुस्तान ने ये कर के दिखाया है। पारदर्शिता और परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है। देश में समाज शक्ति की जो कैमिस्ट्री है। आदर्शों, संकल्पों की जो कैमिस्ट्री है वो कभी-कभी सारे गुणा-भाग को, अंक गणित को पराजित कर देती है। इस चुनाव में अंक गणित को कैमिस्ट्री ने पराजित किया है।

पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव परिणाम वो तो एक गणित होता है। 20वीं सदी के चुनावों के हिसाब-किताब भी गणित और अंकगणित के दायरे में चले होंगे, लेकिन 2014, 2017 और 2019 के चुनाव में देश के राजनीतिक विश्लेषकों को मानना होगा कि अर्थमैटिक के आगे भी केमिस्ट्री होती है। यूपी देश की राजनीति को दिशा दे रहा है।

यूपी में जीत की हैट्रिक लगी, 2014 हो, 2017 हो या 2019 हो, ये हैट्रिक छोटी नहीं है। राजनीतिक पंडितों के दिमाग नहीं खुले। उत्तर प्रदेश के गांव का गरीब व्यक्ति भी देश की सही दिशा के बारे में सोचता भी है और उस दिशा में चलता भी है। काशी की बेटियों ने स्कूटी यात्रा निकाली। बेटियों ने जो स्कूटी यात्रा निकाली उसकी पूरे देश में और सोशल मीडिया में बड़ी चर्चा है, स्कूटी पर बैठकर हमारी बेटियों ने पूरी काशी को अपने सिर पर बैठा लिया था। काशी में हर के मोदी चुनाव लड़ रहे थे। काशी के कार्यकर्ता ही नरेंद्र मोदी बन गए।

लेकिन ये चुनाव हर घर का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा, हर गली का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा। काशी की हर गली से कार्यकर्ता चुनाव लड़ रहे थे। काशी ने विश्वास दिखाया। मैं काशी के संगठन से जुड़े लोगों का, हर कार्यकर्ता का और हर समर्थक का इस बात के लिए आभार करता हूं कि उन्होंने इस चुनाव को जय-पराजय के तराजू से नहीं तोला। उन्होंने चुनाव को लोक संपर्क, लोक संग्रह, लोक समर्पण का पर्व माना।

उन्होंने कहा कि शपथ से पहले काशी की जनता-जनार्दन को धन्यवाद देने आया हूँ। काशी ने स्नेह और शक्ति दी। काशी में चुनाव लोक उत्सव बना। चुनाव में तू-तू, मैं-मैं बहुत कम हुई। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं के आदेश का पालन करता हूं। कार्यकर्ताओं का आदेश सिर माथे पर। काशी ने दुनिया को प्रभावित किया।

अभिनंदन समारोह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि काशी के सांसद व भारत के पदनामित प्रधानमंत्री के प्रचंड जीत पर भाजपा कार्यकर्ता व काशी की जनता का धन्यवाद करते हैं। रोड-शो के दौरान ही स्पष्ट हो गया था कि चुनाव का निर्णय क्या आने वाला है। कार्यकर्ताओ ने मोदी जी से नामांकन के दिन कहा कि आप मतगणना के बाद काशी आइयेगा शायद ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी के नामांकन के बाद प्रत्याशी अपना प्रचार करने न आया हो।

संगठन का दायित्व कैसे निभाया जा सकता है उसका उत्कृष्ट उद्दाहरण मोदी जी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में 13 वर्षो तक नेतृत्व कर दिखाया। मोदी जी ने इसके पूर्व कभी ग्राम प्रधान का भी चुनाव नहीं लड़ा था। पहली बार गुजरात के मणिनगर से विधायक बने और जब उस विधानसभा क्षेत्र को छोड़ा तो वो विधानसभा सबसे विकसित विधानसभा थी। 2014 के काशी और आज के काशी में कितना अंतर आ गया है।

काशी विश्व की सबसे पुरातन नगरी है और उसकी चीजों को संभालते हुए नई काशी को विकसित करना कितना चुनौती पूर्ण रहा है और काशी का विकास करने का काम मिडी जी ने किया है। बाबा विश्वनाथ का दर्शन अब तक अकेले होता था। आज उसे विश्व के पटल पर लाने का काम मोदी जी ने किया। विगत दो वर्षों में उत्तर प्रदेश का विकास तेजी से बढ़ रहा है।

योगी सरकार भाजपा के संकल्प पत्र के अनुसार चल रही है। दो वर्ष पूर्व कहा जाता था कि विकास के नाम पर चुनाव नहीं जीते जा सकते लेकिन दो वर्षों में यह परिपाटी बदल गई और विकास के नाम पर भाजपा को प्रचंड जीत मिली। मोदी जी के विजन के अनुसार पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश सबसे विकसित प्रदेश होगा। 50 वर्षों बाद देश का कोई प्रधानमंत्री दूसरी बार प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी अभिभूत है एक महानायक की यात्रा को आगे बढ़ाने के लिए। 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद शपथ ग्रहण के पूर्व काशी के कार्यकर्ताओं के संवाद कार्यक्रम में अभिनंदन करता हूँ। चुनाव के पूर्व लोग कहते थे कि मोदी जी ने जिस पारदर्शिता के साथ कार्य किया क्या मोदी जी को दूसरी पारी मिलेगी।

पीएम मोदी ने सभी चुनौतियों को दूर करते हुए पांच दशक बाद प्रचंड बहुमत से आई है। इस जीत ने साबित किया कि मोदी हैं तो मुमकिन है। जो विजन देश के वैश्विक मानचित्र पर बढ़ाने का हो उसे नई दिशा देने का कार्य हुआ। आज उसका परिणाम भाजपा को प्रचंड बहुमत के रूप में दिखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछली भाजपा सरकार के किये कार्यों को जनता के समक्ष रखा।

चुनाव के पहले हम सब सोचते थे कि कुछ समय मिलेगा तब तक राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का नए कार्य के लिए आदेश आता था। जिसका नतीजा है कि भाजपा अपने बल पर 303 सीट अर्जित कर पाई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जोर देते हुए कहा कि बहुत लोग काशी से चुनाव लड़ते थे लेकिन मोदी जी का रोड-शो देख पलायन कर गये। भारत को दुनिया मे महाशक्ति बनाने के लिए एक-एक कार्यकर्ता खड़ा है।

अभिनंदन समारोह में सांसद चंदौली एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडे ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया। इससे पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अंगवस्त्रम भेंट कर स्वागत किया।

(27)

Close